श्री त्रिमूर्तिधाम बालाजी हनुमान मंदिर

   प्रेरणात्मक विचार   


संसार विचित्र है - यदि कुछ पाना है तो कुछ छोड़ना भी पडे़गा।

 


समय

मंदिर समय
6:00 AM to 1:00 PM
3:00 PM to 7:00 PM
 
भोजन विश्राम
मध्याह्न 1:00 - 3:00 बजे
 
उत्थापन आरती
प्रातः 6:30 -7:00
सान्ध्य आरती
सांय: 6:30 -7:00
शयन आरती
रात्रि: 7:30
 
अंजना माता
की रसोई
नाश्ता प्रातः 8:00 - 9:00 बजे
मध्याह्न भोजन: 1:00 - 2:00 बजे
रात्रि भोजन: 7:00 - 8:00 बजे

 

श्री भृगु शरण मन्त्र

ॐ आत्मवेत्ता वेदान्त सूक्ष्म तत्व परं ग्रही।
विधि मानस भूतिश्च श्री भृगु शरण मम।। 
हसौं  हंसः परं ब्रह्म योगिनां योगचितप्रभुः।
रघूणां सुप्रकाशी च श्री भृगु शरणं मम।। 
शिवाज विष्णु नामीशो दृष्टा तेषां च संस्थितिम्ः।
कमलाजः कमलाशापः श्री भृगु शरणं मम।। 
सर्व साक्षी सर्वमार्गी सर्वशास्त्र प्रवर्तकः।
सर्वेभ्यः सुखदाता च श्री भृगु शरणं मम।। 
सच्चिदानन्द रूपश्च सत्कला सुप्रवर्धनः।
सर्वनामी सर्व सौम्यः श्री भृगु शरणं मम।। 

आज का दिन



श्री त्रिमूर्तिधाम - मुख्य कार्यक्रम

पर्व:- श्री भृगु जयन्ती

अगस्त
बुधवार
17
अगस्त 17
श्री रामचरित मानस अखण्ड पाठ प्रारम्भ प्रातः 9:00 बजे
श्री जागरण रात्रि 9:00 बजे
अगस्त 18
श्री भृगु जी पूजन प्रातः 7:30 बजे से 
श्री भण्डारा प्रारम्भ मध्यान 12:30 बजे

पर्व:- श्री कृष्ण जन्माश्टमी एंव श्री महाकाली जयन्ती

अगस्त
बुधवार
24
अगस्त 24
श्री जागरण रात्रि 9:00 बजे
श्री कृष्ण पूजन 11:16 बजे 
श्री काली पूजन रात्रि 12 बजे 
श्री फलाहार रात्रि 1 बजे

श्री त्रिमूर्तिधाम - मुख्य समाचार

पर्व:- श्री गुरु पूर्णिमा

19 जुलाई 2016

॥ जय सिया राम ॥ गुरु पूर्णिमा का महान पर्व सभी शिष्यों ने मिलकर धूम धाम से मनाया। पर्व की शुरुवात प्रातः 7:30 बजे श्री बालाजी के अभिषेक, 8:30 बजे श्री अमरेश्वर जी के अभिषेक, 10 बजे श्री भृगु जी के पूजन से हुई। सभी के अभिषेक एवं पूजन गुरु रूप में किये गए। सभी शिष्यों ने फल, फूल, मिष्ठान व वस्त्र भेंट किये। सभी पूजन के उपरांत 11 बजे सभी शिष्यों ने मिलकर गुरुदेव...

पर्व:- श्री संस्थापना दिवस

26 जून 2016
पर्व:- श्री संस्थापना दिवस

॥ जय सिया राम ॥ संस्थापना दिवस श्री त्रिमूर्तिधाम का पर्व बहुत हर्ष उल्लास से मनाया गया। विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन हुआ। 24 जून को अखण्ड श्री रामायण पाठ और रात्रि में श्री बालाजी का अभिषेक एवं सहस्त्र दीपदान भक्तों दवारा बनाए गए दीयों के साथ हुआ। 25 जून को पताकारोपण किया गया और बालाजी की भव्य पालकी निकाली गई। मंदिर की परिक्रमा करते हुए भंडारा हॉल में पहुंची जहां राम नाम संकीर्तन हुआ और ...


Download our Android AppDownload our Calendar in PDF for OfflineSubscribe to our Google Calendar for Complete Hindi Samvat CalendarClick here and feel to write us